/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\!! श्री गणेशाय नमः !!/\/\/\/\/\!! ૐ श्री श्याम देवाय नमः !!\/\/\/\/\!! श्री हनुमते नमः !!/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\

Friday, 10 December 2010

!! श्याम बाबा को श्रृंगार मन भावे... !!





श्याम बाबा को श्रृंगार मन भावे, खाटू वाले को दरबार मन भावे...
दुनिया का नज़ारा के देखां, हाँ के देखां...?



आं को प्यारो प्यारो मुखड़ो, आं की आँख्यां जु अमृत की प्याली...
आं को माथे मुकुट ह जां पर, मोर पंखिया गजब की निराली...
आं का घुंघर वाला बाल, आं का हीरो चमका भाल...
म्हे चाँद सितारा के देखां, हाँ के देखां...? 



श्याम बाबा को श्रृंगार मन भावे, खाटू वाले को दरबार मन भावे...
दुनिया का नज़ारा के देखां, हाँ के देखां...?



यो तो बदल बदल के पहरे, नित बागा रंग बिरंगा...
कदे केशरिया, लाल, गुलाबी, कदे धोला कदे पंचरंगा...
बागा पहरे घेर घुमेर, पहरे थोरी थोरी देर...
एक बागों दुबारा के देखां, हाँ क देखां...?


श्याम बाबा को श्रृंगार मन भावे, खाटू वाले को दरबार मन भावे...
दुनिया का नज़ारा के देखां, हाँ के देखां...?



आं का मोटा मोटा गजरा, फुल कई रकम का पिरोया...
ऊपर स इत्तर छिड़के, चारो कानि स सेवक आया...
म्हारो बाबा ह शौकीन, देख तबियत हो रंगीन...
गुलशन की बहारां के देखां, हाँ के देखां...?



श्याम बाबा को श्रृंगार मन भावे, खाटू वाले को दरबार मन भावे...
दुनिया का नज़ारा के देखां, हाँ के देखां...?



बैठ्यो दरबार लगाकर, यो मंद मंद मुस्कावे...
माँगनिये न यो बाँटे, और प्रेमियाँ स प्रेम बढ़ावे...
सारो बाबा को परिवार, 'बिन्नू' श्याम लुटावे प्यार...
अठे थारो और म्हारो के देखां, हाँ के देखां...?



श्याम बाबा को श्रृंगार मन भावे, खाटू वाले को दरबार मन भावे...
दुनिया का नज़ारा के देखां, हाँ के देखां...?

 

!! जय जय मोरवीनंदन, जय जय बाबा श्याम !!
!! काम अधुरो पुरो करज्यो, सब भक्तां को श्याम !!
!! जय जय शीश के दानी, जय जय खाटू धाम !!
!! म्हे आया शरण तिहारी, शरण म अपणे लेलो श्याम !!



भजन  : "श्री विनोद शर्मा 'बिन्नू' जी"

No comments:

Post a Comment

थे भी एक बार श्याम बाबा जी रो जयकारो प्रेम सुं लगाओ...

!! श्यामधणी सरकार की जय !!
!! शीश के दानी की जय !!
!! खाटू नरेश की जय !!
!! लखदातार की जय !!
!! हारे के सहारे की जय !!
!! लीले के असवार की जय !!
!! श्री मोरवीनंदन श्यामजी की जय !!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में