/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\!! श्री गणेशाय नमः !!/\/\/\/\/\!! ૐ श्री श्याम देवाय नमः !!\/\/\/\/\!! श्री हनुमते नमः !!/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\

Wednesday, 22 December 2010

!! कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह... !!




जब कभी और जहाँ कही भी खाटू वाले श्री श्यामधणी का कीर्तन उत्सव का आयोजन किया जाता है, और कीर्तन की सम्पूर्ण तैयारी हो जाती है, तत्पश्चात कीर्तन में उपस्थित समस्त श्याम प्रेमियों के हृदय में एकमात्र यही भाव उत्पन्न होता है, जिसे वे इन शब्दों के माध्यम से श्री श्यामधणी को अर्पण करते है... आइये हम सब भी बाबा श्यामधणी को समर्पित इन भावों का रसास्वादन करे...



कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...
कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...
ओ कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...
थाणे कौल निभाणों ह...



दरबार साँवरिया, ऐसो सज्यो प्यारो, दयालु आपको...
सेवा म साँवरिया, सगला खड़ा डीके, हुकुम बस आपको...
सेवा म थारी, सेवा म थारी, म्हाने आज बिछ जाणो ह...
ओ सेवा म थारी, म्हाने आज बिछ जाणो ह...
थाणे कौल निभाणों ह...



कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...
कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...



कीर्तन की ह त्यारी, कीर्तन करां जम क, प्रभु क्यूँ देर करो...
वादों थारो दाता, कीर्तन म आणे को, घणी क्यूँ देर करो...
भजनां सु थाणे, भजनां सु थाणे, म्हाने आज रिझाणों ह..
ओ भजनां सु थाणे, म्हाने आज रिझानो ह..
थाणे कौल निभाणों ह...



कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...
कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...



जो कुछ बन्यो म्हासु, अर्पण प्रभु सारो, प्रभु स्वीकार करो...
नादाँ सु गलती, होती ही आई ह, प्रभु मत ध्यान धरो.. 
'नंदू' साँवरिया,  'नंदू' साँवरिया, थारो दास पुरानो ह...
ओ 'नंदू' साँवरिया, थारो दास पुरानो ह...
थाणे कौल निभाणों ह...



कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...
कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...
ओ कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...
थाणे कौल निभाणों ह...



कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...
कीर्तन की ह रात, बाबा आज थाणे आणों ह...



आप सभी यह मधुर भाव नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक कर सुन भी सकते है...







!! जय जय मोरवीनंदन, जय जय बाबा श्याम !!
!! काम अधुरो पुरो करज्यो, सब भक्तां को श्याम !!
!! जय जय शीश के दानी, जय जय खाटू धाम !!
!! म्हे आया शरण तिहारी, शरण म अपणे लेलो श्याम !!


भजन : "श्रद्धेय श्री नंदू जी"
  
श्री श्यामधणी खाटूवाले के कीर्तन की यह अनुपम श्रृंगाररित झांकी "श्री श्याम मंदिर, रायगढ़, छत्तीसगढ़" की है...

No comments:

Post a Comment

थे भी एक बार श्याम बाबा जी रो जयकारो प्रेम सुं लगाओ...

!! श्यामधणी सरकार की जय !!
!! शीश के दानी की जय !!
!! खाटू नरेश की जय !!
!! लखदातार की जय !!
!! हारे के सहारे की जय !!
!! लीले के असवार की जय !!
!! श्री मोरवीनंदन श्यामजी की जय !!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में