/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\!! श्री गणेशाय नमः !!/\/\/\/\/\!! ૐ श्री श्याम देवाय नमः !!\/\/\/\/\!! श्री हनुमते नमः !!/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\

Saturday, 4 June 2011

!! लगाओ मिल के जयकारा, खाटू से श्याम आयेगा... !!



ऐसा सभी श्री श्याम प्रेमियों का विश्वास है, कि जहाँ कहीं भी श्री श्यामप्रभु का कीर्तन होता है, और जब भक्त सच्चे हृदय से जयकारों का उद्घोष करते हुए श्याम प्रभु को पुकारते है तो, वहाँ स्वयं बाबा श्याम लीले पे असवार हो  उत्सव स्थल पर अपने भक्तों पर कृपा बरसाने आ ही जाते है...  आइये आज हम सभी श्याम प्रेमी मिलकर सरल एवं निश्छल हृदय से श्री श्याम प्रभु की जय जयकार लगाकर, बाबा श्याम के कृपा पात्र बने एवं उनको रिझाये...



!! जयकरा श्री श्याम का, बोलो सब नर- नार !!
!! जयकारे की गुंज से, राजी लखदातार !!




लगाओ मिल के जयकारा, खाटू से श्याम आयेगा...
लगाओ मिल ले जयकारा, खाटू से श्याम आयेगा...
करो स्वागत की तैयारी, खाटू से श्याम आयेगा...
करो स्वागत की तैयारी, खाटू से श्याम आयेगा...



सिंहासन भी डोलेगा, जयकारा जो सुनेगा...
खाटू से वो दौड़ेगा, लीले पे चढ़के...
करो स्वागत की तैयारी, खाटू से श्याम आयेगा...
लगाओ मिल के जयकारा, खाटू से श्याम आयेगा...



भगतों का रैला होगा, खाटू सा मेला होगा...
दरबार जो लगेगा, सुनेगा बाबा...
सुनाओ दिल का अफसाना, खाटू से श्याम आयेगा...
लगाओ मिल के जयकारा, खाटू से श्याम आयेगा...



दर तेरे जो आयेगा, भर खोली वो जायेगा...
दर्शन भी वो पायेगा, खुलेगी किस्मत...
झुकाओ शीश दर पर तुम, खाटू से श्याम आयेगा...
लगाओ मिल के जयकारा, खाटू से श्याम आयेगा...



'टीकम' भी नाचेगा, मस्ती में झुमेगा...
जयकारा बोलेगा, भक्तो के संग में....
लगाओ मिल के जयकारा, खाटू से श्याम आयेगा...
करो स्वागत की तैयारी, खाटू से श्याम आयेगा...



लगाओ मिल के जयकारा, खाटू से श्याम आयेगा...
लगाओ मिल ले जयकारा, खाटू से श्याम आयेगा...
करो स्वागत की तैयारी, खाटू से श्याम आयेगा...
करो स्वागत की तैयारी, खाटू से श्याम आयेगा...



!! जय जय मोरवीनंदन, जय जय बाबा श्याम !!
!! काम अधुरो पुरो करज्यो, सब भक्तां को श्याम !!
!! जय जय लखदातारी, जय जय श्याम बिहारी !!
!! जय कलयुग भवभय हारी, जय भक्तन हितकारी !!






प्रेम से बोलिए :


!! लखदातार की जय !!
!! खाटू नरेश की जय !!
!! हारे के सहारे की जय !!
!! श्याम सरकार की जय !!
!! तीन बाण धरी की जय !!
!! लीले के असवार की जय !!
!! मोरवीनंदन बाबा श्याम की जय !!




श्याम बाबा की यह अनुपम छवि  "श्री श्याम कुञ्ज, दरभंगा" के २५वे श्याम महोत्सव की है, एवं इस सुन्दर भाव के रचियता इस मंदिर प्रांगण में निवास करने वाले श्री महाबीर प्रसाद जी है...

No comments:

Post a Comment

थे भी एक बार श्याम बाबा जी रो जयकारो प्रेम सुं लगाओ...

!! श्यामधणी सरकार की जय !!
!! शीश के दानी की जय !!
!! खाटू नरेश की जय !!
!! लखदातार की जय !!
!! हारे के सहारे की जय !!
!! लीले के असवार की जय !!
!! श्री मोरवीनंदन श्यामजी की जय !!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में