/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\!! श्री गणेशाय नमः !!/\/\/\/\/\!! ૐ श्री श्याम देवाय नमः !!\/\/\/\/\!! श्री हनुमते नमः !!/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\

Monday, 6 December 2010

!! चालो चालो खाटू धाम, जहां विराजे बाबा श्याम... !!





आज के इस युग में श्री मोरवीनन्दन श्यामधणी, श्री खाटूवाले श्याम बाबा का नाम कौन नहीं जानता होगा... आज केवल भारत में ही नहीं अपितु समूचे विश्व के भारतीय परिवार श्री श्याम जी के चमत्कारों को अपने जीवन में प्रत्यक्ष रूप से देख चुके हैं.... आज पुरे भारत के सभी शहरों एवं गावों में श्री श्याम जी से सम्बंधित संस्थाओं द्वारा भजन-कीर्तन कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं... और अपने नाम के अनुरूप ये कलयुग के अवतारी बाबा श्याम जी अपने समस्त भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते है...


जो भी व्यक्ति राजस्थान के सीकर जिले में रींगस से १७ किलोमीटर की दुरी पर स्थित श्री खाटूश्याम जी में जाता है.... उनके जीवन के समस्त पाप समाप्त हो जाते हैं, और श्याम प्रभु के दर्शन मात्र से   उनके जीवन में खुशिओं और सम्पदाओ की बहार आने लगती है... और श्री खाटू श्याम जी को निरंतर भजने से प्राणी सब प्रकार के सुख पाता है और अंत में मोक्ष को प्राप्त हो जाता है... आइये हम सब भी श्री श्याम बाबा के परम पवित्र श्री खाटू धाम का दर्शन इन भावो और छवियों के माध्यम से करे...


जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम


चालो चालो खाटू धाम, जहां विराजे बाबा श्याम...
चालो चालो खाटू धाम, जहां विराजे बाबा श्याम...
बनता बिगड़ा हुआ सब काम, चालो खाटू जी...


चालो खाटू जी... ओ चालो खाटू जी...
चालो खाटू जी... ओ चालो खाटू जी...


जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम




जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम


ऊँचे-नीचे रेत के टीले, ओ ऊँचे-नीचे रेट के टीले...
दूर से दिखते निशान रंगीले, केशरिया और पीले-पीले...
चालो खाटू जी...ओ चालो खाटू जी...


जाकर  एक निशान उठा लो, बाबा श्याम की कृपा पा लो...
अपने सोये भाग जगा लो, चालो खाटू जी...
चालो खाटू जी... ओ चालो खाटू जी...


जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम




जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम


मंदिर श्याम का लागे प्यारा, ओ मंदिर श्याम का लागे प्यारा...
जैसे अन्धकार में तारा, बहती जहाँ प्रेम की धारा...
चालो खाटू जी...ओ चालो खाटू जी...


रतन सिंहासन श्याम विराजे,  अंजनी का लाला संग साजे...
ढोलक शंख नगाडा बाजे, चालो खाटू जी...
चालो खाटू जी...ओ चालो खाटू जी...


जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम



जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम


प्रगटी जहाँ से मूरत प्यारी, ओ प्रगटी जहाँ से मूरत प्यारी...
है उस कुंड की महिमा न्यारी, उमड़े जहा पे दुनिया सारी...
चालो खाटू जी...ओ चालो खाटू जी...


यह तो कुंड बना मनभावन,  जल है गंगा जल सा पावन..
बरसे श्याम कृपा का सावन, चालो खाटू जी...
चालो खाटू जी...ओ चालो खाटू जी...


जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम



जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम


बाबा चमत्कार दिखलाये, ओ बाबा चमत्कार दिखलाये...
मरुधर में भी फुल खिलाये, जगह वो श्याम बगीची कहलाये...
चालो खाटू जी...ओ चालो खाटू जी...


लख दातार की सेवा पाई, आलू सिंह जी ने जिसे सजाई..
उनके भाग बड़े थे भाई, चालो खाटू जी...
चालो खाटू जी...ओ चालो खाटू जी...


जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम




जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम


कलयुग का ये देव कहाये, ओ कलयुग का ये देव कहाये...
बाबा सांचा न्याय चुकाये, एक पल की न देर लगाये...
चालो खाटू जी...ओ चालो खाटू जी...


सेवक रंग गुलाल उड़ाये,  सूरज चंदा आरती गाये...
बाबा दोनु हाथ लुटाये, चालो खाटू जी...
चालो खाटू जी...ओ चालो खाटू जी...


जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम



जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम


चालो चालो खाटू धाम, जहां विराजे बाबा श्याम...
चालो चालो खाटू धाम, जहां विराजे बाबा श्याम...
बनता बिगड़ा हुआ सब काम, चालो खाटू जी...


चालो खाटू जी... ओ चालो खाटू जी...
चालो खाटू जी... ओ चालो खाटू जी...


जय जय खाटू धाम, जय जय बाबा श्याम


!! जय जय मोरवीनंदन, जय जय बाबा श्याम !!
!! काम अधुरो पुरो करज्यो, सब भक्तां को श्याम !!
!! जय जय शीश के दानी, जय जय खाटू धाम !!
!! म्हे आया शरण तिहारी, शरण म अपणे लेलो श्याम !!




1 comment:

थे भी एक बार श्याम बाबा जी रो जयकारो प्रेम सुं लगाओ...

!! श्यामधणी सरकार की जय !!
!! शीश के दानी की जय !!
!! खाटू नरेश की जय !!
!! लखदातार की जय !!
!! हारे के सहारे की जय !!
!! लीले के असवार की जय !!
!! श्री मोरवीनंदन श्यामजी की जय !!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में