/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\!! श्री गणेशाय नमः !!/\/\/\/\/\!! ૐ श्री श्याम देवाय नमः !!\/\/\/\/\!! श्री हनुमते नमः !!/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\

Thursday, 2 June 2011

!! म्हारे सिर पे है बाबा जी रो हाथ, कोई तो म्हारो कांई करसी... !!




अपने आराध्य पर पूर्ण आस्था एवं पूर्ण समर्पण के भाव रखने वाला भक्त का ह्रदय अपने अंतर्मन के भावो की अभिव्यक्ति इस प्रकार अपने प्रभु, अपने इष्ट से करने लगता है...






म्हारे सिर पे है बाबा जी रो हाथ, खाटू वाले रो साथ...
कोई तो म्हारो कांई करसी, कोई तो म्हारो कांई करसी...
म्हारे सिर पे है बाबा जी रो हाथ, खाटू वाले रो साथ...
कोई तो म्हारो कांई करसी, कोई तो म्हारो कांई करसी...




जो कोई म्हारे श्यामधणी ने, साँचे मन सु ध्यावे...
काल कपाल भी साँवरिये के, भगतां स घबड़ावे...
जो कोई पकड्यो ह बाबा जी रो हाथ, खाटू वाले रो साथ...
कोई तो वां को कांई करसी, कोई तो वां को कांई करसी...



जो आं पे विश्वास करे, वो खूंटी तान कर सोवे...
बठे प्रवेश करे न कोई, बाल न बांको होवे...
ज्यां के मन में नहीं ह विश्वास, नहीं ह विश्वास...
वां को तो बाबो कांई करसी, वां को तो बाबो कांई करसी...



कलयुग को यो देव बडो, दुनिया म नाम कमायो...
जद जद भीड़ पड़ी भगतां पे, दौड्यो दौड्यो आयो...
यो तो घट घट के जाने सब बात, जाने सब बात...
कोई तो म्हारो कांई करसी, कोई तो म्हारो कांई करसी...



म्हारे सिर पे है बाबा जी रो हाथ, खाटू वाले रो साथ...
कोई तो म्हारो कांई करसी, कोई तो म्हारो कांई करसी...
म्हारे सिर पे है बाबा जी रो हाथ, खाटू वाले रो साथ...
कोई तो म्हारो कांई करसी, कोई तो म्हारो कांई करसी...



आप  सभी इस सुन्दर भाव को नीचे दिए गए लिंक पर भी सुन सकते है...







!! जय जय मोरवीनंदन, जय जय बाबा श्याम !!
!! काम अधुरो पुरो करज्यो, सब भक्तां को श्याम !!
!! जय जय लखदातारी, जय जय श्याम बिहारी !!
!! जय कलयुग भवभय हारी, जय भक्तन हितकारी !!





बाबा श्याम के श्री चरणों में समर्पित यह सुन्दर भजन सुप्रसिद्द राजस्थानी गीत "म्हाने अब के बचा ले मेरी माय, बटाऊ आयो लेबा ने" के तर्ज़ पर आधारित है...

No comments:

Post a Comment

थे भी एक बार श्याम बाबा जी रो जयकारो प्रेम सुं लगाओ...

!! श्यामधणी सरकार की जय !!
!! शीश के दानी की जय !!
!! खाटू नरेश की जय !!
!! लखदातार की जय !!
!! हारे के सहारे की जय !!
!! लीले के असवार की जय !!
!! श्री मोरवीनंदन श्यामजी की जय !!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में