/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\!! श्री गणेशाय नमः !!/\/\/\/\/\!! ૐ श्री श्याम देवाय नमः !!\/\/\/\/\!! श्री हनुमते नमः !!/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\

Monday, 13 June 2011

!! देखूँ थाणे किन देशां म जाय, जी म्हारा श्याम... !!









देखूँ थाणे किन देशां म जाय, थाणे किन देशां म जाय...
थे व्यापक सब म होय रहया, जी म्हारा श्याम...
थे परिपूरण सब म होय रहया, जी म्हारा श्याम...



अग्नि, पवन, जल, धरणी, और आकाश, कोई धरणी और आकाश...
थे दसहू दिशा म छाय रहया, जी म्हारा श्याम...
थे दसहू दिशा म छाय रहया, जी म्हारा श्याम...



नर-नारी, पशु-पक्षी, कीट-पतंग, पशु-पक्षी कीट-पतंग...
सब भेष म थे धारिया, जी म्हारा श्याम...
सब भेष म थे धारिया, जी म्हारा श्याम...



पर्वत, जंगल, वृक्षण रा सब पात, कोई वृक्षण रा सब पात...
जामे दरसे छवि आप री, जी म्हारा श्याम...
जामे दरसे छवि आप री, जी म्हारा श्याम...



कल-कल बहवे गंगा जी री धार, कोई यमुना जी री धार...
थारा ही शबद सुहावना, जी म्हारा श्याम...
थारा ही शबद सुहावना, जी म्हारा श्याम...



मिट गयी अब तो भोग मोक्ष री चाह, कोई भोग मोक्ष री चाह...
घट घट म निरखूँ आपणे, जी म्हारा श्याम...
घट घट म निरखूँ आपणे, जी म्हारा श्याम...



देखूँ थाणे किन देशां म जाय, थाणे किन देशां म जाय...
थे व्यापक सब म होय रहया, जी म्हारा श्याम...
थे व्यापक सब म होय रहया, जी म्हारा श्याम...
थे परिपूरण सब म होय रहया, जी म्हारा श्याम...



!! जय जय मोरवीनंदन, जय जय बाबा श्याम !!
!! काम अधुरो पुरो करज्यो, सब भक्तां को श्याम !!

!! जय जय लखदातारी, जय जय श्याम बिहारी !!
!! जय कलयुग भवभय हारी, जय भक्तन हितकारी !!


No comments:

Post a Comment

थे भी एक बार श्याम बाबा जी रो जयकारो प्रेम सुं लगाओ...

!! श्यामधणी सरकार की जय !!
!! शीश के दानी की जय !!
!! खाटू नरेश की जय !!
!! लखदातार की जय !!
!! हारे के सहारे की जय !!
!! लीले के असवार की जय !!
!! श्री मोरवीनंदन श्यामजी की जय !!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में