/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\!! श्री गणेशाय नमः !!/\/\/\/\/\!! ૐ श्री श्याम देवाय नमः !!\/\/\/\/\!! श्री हनुमते नमः !!/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\

Sunday, 24 April 2011

!! दरश दिखा दयो नि बाबा श्याम जी... !!




हे इष्टदेव, कुलदेव, खाटूपति श्री बाबा श्याम जी आज बारस की इस पुनीत बेला पर थारा सगला भगतां हिलमिल थारी ज्योत जगाई ह और थारे श्री दर्शन की चाह म  थां सूं आ अरज लगाई ह... 




ओ बाबा थारे दरश ने अँखियाँ तरसे, ओ बाबा थारे दरश स हिवड़ो हुलसे...
दरश दिखा दयो नि बाबा श्याम जी...
दरश दिखा दयो नि बाबा श्याम जी...



ओ बाबा थाणे कर अरदास बुलावां, ओ बाबा थारी ज्योति आज जगावां...
म्हारे घर आओ नि बाबा श्याम जी...
म्हारे घर आओ नि  बाबा श्याम जी...



ओ बाबा थे तो हारे रा हो सहारा, ओ मेटो थे तो भगतां रा दुःख सारा...
ओ कष्ट मिटाओ नि बाबा श्याम जी...
ओ कष्ट मिटाओ नि बाबा श्याम जी...



ओ बाबा थारी महिमा सारा गावें, ओ बाबा थारे नाम सु भव तीर जावे...
म्हाणे भी तिराओ नि बाबा श्याम जी...
म्हाणे भी तिराओ नि बाबा श्याम जी...



ओ बाबा थे तो भगतां रा रखवाला, ओ बाबा थे तो माँ मोरवी रा लाला...
बेगा बेगा आओ नि बाबा श्याम जी...
बेगा बेगा आओ नि बाबा श्याम जी...



ओ बाबा थे तो भगतां री हो आशा, बाबा थे तो सबकी दूर करो निराशा...
आश बंधाओ नि बाबा श्याम जी...
अब घरां आओ नि बाबा श्याम जी...



ओ बाबा थाणे भगतां आज मनावे, बाबा थारा चरणा म धोक लगावे... 
दर पे बुलाओ नि बाबा श्याम जी...
दर पे बुलाओ नि बाबा श्याम जी...



ओ बाबा थारे दरश ने अँखियाँ तरसे, ओ बाबा थारे दरश स हिवड़ो हुलसे...
ओ बाबा थाणे कर अरदास बुलावां, ओ बाबा थारी ज्योति आज जगावां...
म्हारे घर आओ नि बाबा श्याम जी...
दरश दिखाओ नि बाबा श्याम जी...



!! जय जय मोरवीनंदन, जय जय बाबा श्याम !!
!! काम अधुरो पुरो करज्यो, सब भक्तां को श्याम !!
!! जय जय लखदातारी, जय जय श्याम बिहारी !!
!! जय कलयुग भवभय हारी, जय भक्तन हितकारी !!



श्री श्याम बाबा की यह अनुपम छवि  "श्री श्याम महोत्सव, भरतपुर, राजस्थान" की है...  

1 comment:

थे भी एक बार श्याम बाबा जी रो जयकारो प्रेम सुं लगाओ...

!! श्यामधणी सरकार की जय !!
!! शीश के दानी की जय !!
!! खाटू नरेश की जय !!
!! लखदातार की जय !!
!! हारे के सहारे की जय !!
!! लीले के असवार की जय !!
!! श्री मोरवीनंदन श्यामजी की जय !!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में