/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\!! श्री गणेशाय नमः !!/\/\/\/\/\!! ૐ श्री श्याम देवाय नमः !!\/\/\/\/\!! श्री हनुमते नमः !!/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\/\

Thursday, 26 May 2011

!! खाटू म विराजे म्हारा, बाबा श्याम जी... !!




हे इष्टदेव, कुलदेव, खाटूपति श्री श्याम आपसे श्री चरणों में बारम्बार प्रणाम है...








खाटू म विराजे म्हारा, बाबा श्याम जी...
खाटू म विराजे म्हारा, बाबा श्याम जी...
ओ दुनिया, दर्शन करने आवे सुनकर थारो नाम जी...
ओ दुनिया, दर्शन करने आवे सुनकर थारो नाम जी...




बाबा श्याम जी ओ म्हारा, बाबा श्याम जी...
ओ दुनिया, दर्शन करने आवे सुनकर थारो नाम जी...




मकराने को मंदिर थारो, ध्वजा फरुखे भारी...
दाई भुजा गोपीनाथ विराजे, बाये भुजा त्रिपुरारी...
ओ थारे डोड्या हनुमत नाचे म्हारा, बाबा श्याम जी...
ओ थारे डोड्या हनुमत नाचे म्हारा, बाबा श्याम जी...




बाबा श्याम जी ओ म्हारा, बाबा श्याम जी...
ओ दुनिया, दर्शन करने आवे सुनकर, थारो नाम जी...




केशरिया थारे बागों सोहे, गल पुष्पन की माला...
मोर छड़ी थारे हाथां सोहे, भक्तां रा रखवाला...
ओ थारे लीले की असवारी म्हारा, बाबा श्याम जी...
ओ थारे लीले की असवारी म्हारा, बाबा श्याम जी...




बाबा श्याम जी ओ म्हारा, बाबा श्याम जी...
ओ दुनिया, दर्शन करने आवे सुनकर, थारो नाम जी...




फागण के मेले के माहि, भगत नाचता आवे...
नाचत कुदत जाय धाम में, चरणा शीश नवावे...
ओ थाणे गा गा कर रिझावे म्हारा, बाबा श्याम जी...




बाबा श्याम जी ओ म्हारा, बाबा श्याम जी...
ओ दुनिया, दर्शन करने आवे सुनकर, थारो नाम जी...




श्याम भगत थारी महिमा गावे, सुनियो श्यामबिहारी...
सबका संकट मेटो बाबा, शरण पड्या ह थारी...
ओ थारा 'रामकिशन' गुण गावे म्हारा, बाबा श्याम जी...




बाबा श्याम जी ओ म्हारा, बाबा श्याम जी...
ओ दुनिया, दर्शन करने आवे सुनकर, थारो नाम जी...




खाटू म विराजे म्हारा, बाबा श्याम जी...
खाटू म विराजे म्हारा, बाबा श्याम जी...
ओ दुनिया, दर्शन करने आवे सुनकर थारो नाम जी...
ओ दुनिया, दर्शन करने आवे सुनकर थारो नाम जी...




बाबा श्याम जी ओ म्हारा, बाबा श्याम जी...
ओ दुनिया, दर्शन करने आवे सुनकर थारो नाम जी...




!! जय जय मोरवीनंदन, जय जय बाबा श्याम !!
!! काम अधुरो पुरो करज्यो, सब भक्तां को श्याम !!
!! जय जय लखदातारी, जय जय श्याम बिहारी !!
!! जय कलयुग भवभय हारी, जय भक्तन हितकारी !!




भजन : "श्री रामकिशन जी"


स्वर : "श्री संजय मित्तल जी"


2 comments:

थे भी एक बार श्याम बाबा जी रो जयकारो प्रेम सुं लगाओ...

!! श्यामधणी सरकार की जय !!
!! शीश के दानी की जय !!
!! खाटू नरेश की जय !!
!! लखदातार की जय !!
!! हारे के सहारे की जय !!
!! लीले के असवार की जय !!
!! श्री मोरवीनंदन श्यामजी की जय !!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में